पापा और चाचा ने मुझे चोदकर मजा लिया – Baap Beti XXX Chudai Kahani

 नमस्कार दोस्तों आपका सागत है Baap Beti xxx Chudai Kahan इस कहानी मे। आज में आपको बताऊँगा की कैसे पापा और चाचा ने मुझे चोदकर मजा लिया

पापा और चाचा ने मुझे चोदकर मजा लिया – Baap Beti xxx Chudai Kahani

दोस्तो, मैं रिया हूं. आशा है सभी लोग अच्छे होंगे। मैं अपने जीवन में घटी कुछ घटनाएँ साझा करना चाहूँगा। सबसे पहले बात करते हैं मेरे बारे में, मैंने कॉलेज के शुरुआती दिनों में पढ़ा था, मेरा फिगर बहुत सेक्सी है। दूध और गांड देख कर किसी भी लड़के का लंड खड़ा हो जायेगा. अब आते हैं असल घटना पर. यह घटना मेरे पिता, चाचा और मेरे बारे में है। घर पर मैं, मेरी माँ और पापा रहते हैं और मेरा कोई भाई या बहन नहीं है। एक दिन अचानक मेरी मौसी की तबियत ख़राब हो गयी तो मेरी माँ उनसे मिलने गयी। मां ने कहा कि वह दो दिन बाद आएंगी. मैं और मेरे पापा घर पर ही रहे. XXX Chudai Kahani

मेरे पापा की उम्र करीब 45 साल होगी. पापा को सेक्स करना बहुत पसंद है लेकिन माँ उन्हें ऐसा करने नहीं देतीं। मैं काफ़ी समय तक बापी की नज़रों में रही लेकिन उसने कभी मेरे साथ कुछ बुरा नहीं किया। लेकिन आज मां के जाने के बाद पापा मेरे पीछे पड़े हैं.पहले तो मुझे समझ नहीं आया, फिर समझ आया कि कुछ तो गड़बड़ है. मैंने खाना बनाया, फिर दोपहर हो गई और बापी ने कहा कि मैं नहाकर साथ में खाना खाऊंगा. मैंने कहा ठीक है और नहाने चला गया. मैंने नहा कर सिर्फ नाइटी पहनी और बाथरूम से निकल कर यह कह कर कमरे में चली गयी कि मैं वहां जाकर पैंटी और इनर पढ़ूंगी. लेकिन जब मैं कमरे में दाखिल हुई तो मैंने एक दृश्य देखा, मेरे पापा बिस्तर पर बैठे थे और टीवी देख रहे थे, मेरी पैंटी और अंडरवियर उनके बगल में रखे हुए थे।

पापा और चाचा ने मुझे चोदकर मजा लिया – Baap Beti XXX Chudai Kahani

मैं शर्म के मारे कुछ नहीं कह सकता. मैं उसी हालत में अपने बाल ठीक करती रही, तभी अचानक बापी ने कहा कि तुम पैंटी और अंडरवियर नहीं पढ़ोगी, मैं कुछ कहने की कोशिश में भी अटक गई. फिर बापी ने मेरी पेंटी और इनर मेरे हाथ में देते हुए कहा कि नहीं पढ़ो. मैंने कहा ठीक है तुम बाहर जाओ मैं चेंज कर रहा हूँ. बापी ने कहा नहीं तुम यहीं चेंज कर लो, मैं टीवी देख रहा हूं तुम वहां चेंज कर लो, मैं हैरान हो गया. फिर मैंने कहा कि में बाथरूम से चेंज कर रहा हूँ तो बापी ने कहा कि क्या हुआ में तुम्हारा बाप हूँ या तुम चेंज करोगी तो क्या होगा. मैंने शर्म करते हुए ना कहा तो बापी ने कहा ठीक है मैं तुम्हें कपड़े बदलने के लिए छोड़ रहा हूं। मैंने नाइटी खोली और पैंटी और इनर पढ़ा तभी मुझे ख्याल आया कि मैंने बिना दरवाज़ा खोले ही चेंज कर लिया है।

मैंने दरवाजे की ओर देखा तो पाया कि कोई मुझे देख रहा है। मैंने सोचा कि यह कुछ भी नहीं हो सकता है. फिर दोपहर का भोजन हुआ. बापी ने कहा आज तुम मेरे साथ कौन सोओगे। मैंने कहा- तुम बाहर सो जाओ मैं अन्दर सो जाऊँगा। बापी ने कहा कि एक दिन सोकर क्या होगा तो मैंने कहा ठीक है. फिर बापी ने सभी खिड़कियाँ और दरवाज़े बंद कर दिए, मैं बिस्तर पर चला गया और फिर बापी मेरे बगल में सो गया। कुछ देर बाद मुझे नींद आ गई।

ससुर ने अपने बेटे की पत्नी को बना दिया रंडी – Wife Hindi Sex Story

मैं चौंक गई और बापी से बोली, ये क्या हो रहा है, मैं तुम्हारी बेटी रया हूं, बापी अचानक उठा और बोला देखो मुझसे गलती हो गई, दरअसल तुम्हारी मां मुझे कुछ भी करने नहीं देती, मैं तो रोज करना चाहती हूं। पर वो मुझे हमेशा मना करती थी, बताओ क्या करूँ, बहुत इच्छा है, कुछ और सोच ही नहीं पाता था कहने को। मैंने कहा तो अब क्या करोगे, बापी ने कहा सो जाओ. मैंने कहा फिर चाहोगी तो क्या करोगे? बापी ने कहा अगर तुम चाहो तो कुछ किया जा सकता है. फिर मैंने कहा क्या? बापी ने कहा अपनी माँ से कुछ मत कहना. मैंने कहा बताओ क्या करना है? XXX Chudai Kahani

बापी ने कहा कि आप मुझे ऐसा करने दीजिए। मैं हैरान हो गया और बोला कि ये कैसे संभव है? नहीं नहीं मैं नहीं कर सकता तुम कुछ और करो बापी ने कहा मेरी स्थिति के बारे में सोचो. बापी मेरी बात नहीं सुन रहा था तो मुझे हाँ कहना पड़ा। फिर बापी ने तुरंत मुझे बिस्तर पर धकेल दिया और नाइटी के ऊपर से दूध दबाने से मैंने जोर से बापी से कहा कि इसे थोड़ा धीरे दबाओ, लेकिन बापी मेरी बात नहीं सुन रहा है और एक हाथ से दबाता रहता है और दूसरे हाथ से अपना हाथ नीचे उठा रहा है. उसकी लुंगी. फिर अपनी नाइटी खोल दी. मैं सिर्फ इनर और पैंटी पहने हुए बापी के सामने लेटी हूं.

फिर बापी अपने मुँह से पैरों से लेकर पेट तक हर जगह को छू रहा था, मुँह से जीभ से बातें हो रही थी, फिर मुझे पलटा दिया और मेरी गांड के छेद में अपनी उंगलियाँ डाल दीं, मेरी गांड का छेद बहुत टाइट था इसलिए पहले तो बापी की उंगली नहीं गई। उसने नारियल तेल के डिब्बे से थोड़ा सा नारियल तेल अपनी उंगली पर लगाया। उसने मेरी गांड के छेद को पकड़ लिया और फिर एक उंगली डाल दी और मैं बहुत जोर से चिल्लाई और कहा कि मुझे लगता है पापा।

बापी ने कहा कि तुम्हें थोड़ी सी पकड़ की जरूरत नहीं है, फिर उसने अपनी उंगली निकाली और दोबारा डाली और बापी की जीभ चूत के अंदर चाटी और अपनी उंगलियों से गांड के छेद में धकेलता रहा, इसलिए मुझे बहुत मजा आ रहा था आनंद। मेरी पैंटी बस खुल ही रही थी कि आखिर मैं तो थी ही।

तभी अचानक किसी ने बाहरी दरवाज़ा खटखटाया तो बापी मुझे छोड़ कर देखने चला गया कि दरवाज़े पर कौन है। मैंने जाकर देखा तो मेरे चाचा मेरे पापा से मिलने आये थे. बापी ने मुझसे दो कप चाय लाने को कहा. मैं भी चाय पीने चला गया. बापी और चाचा अन्दर कमरे में बैठ गये और बातें करने लगे। मैं चाय बनाकर कमरे में गया तो पर्दे के पीछे से सुना कि बापी काका कह रहे थे कि दादी को किसे दे रहे हो, नहीं तो कह दूंगा कि पिछली बार हुली में जैसा दिया था, वैसा ही दूंगा। XXX Chudai Kahani

काका ने कहा, “मुझे समझ नहीं आता कि बौदी तुम्हें कुछ क्यों नहीं देता।” बापी ने कहा नहीं भाई मैं तुम्हारी बहू नहीं देना चाहता. हो सके तो एक बार अपनी बहू को देख लो, मैं दे दूँ तो क्या कह रहे हो? बापी की ये बातें सुनकर मैं हैरान रह गया. फिर मैं चाय देने के लिए अंदर कमरे में गयी और वो दोनों चुप हो गये. मैं चाय लेकर पर्दे के पीछे चला गया. काका ने कहा मैं कुछ कहूंगा। दादाजी बुरा नहीं मानेंगे। तब बापी ने कहा नहीं मैं बुरा नहीं मानूंगा। तुम बताओ क्या कहना है।

काका ने कहा मैं रिया को काफी समय से देख रहा हूं उसका शरीर बौडी जैसा हो गया है। बापी तुम मेरी बेटी का लालच कर रहे हो, चाचा ने कहा नहीं ऐसा कुछ नहीं है. बापी फिर क्या? अंकल बोले मैं तो बस कह रहा था. वो शब्द बोलो, आज कौन करेगा? बापी ने कहा मैंने तुम्हें परेशान किया है ना? अंकल कुछ नहीं बोले. फिर बापी ने कहा खड़े हो जाओ और कुछ करो. बापी ने मुझे बुलाया और मैं कुछ न जानने का नाटक करके घर में घुस गया और बोला कि क्या कहते हो? फिर बापी ने कहा कि हमारे पास बैठो. मैं ऐसे बैठ गया मानो उत्तेजना से मेरी छाती फट रही हो। बापी ने जाकर कमरे का बाहरी दरवाज़ा और खिड़की बंद कर दी। उन्होंने कहा कि जो काम आप और मैं कर रहे हैं वह काम हम तीनों करेंगे।

मैं सुनकर आश्चर्यचकित हो गया और बोला, “यह कैसे किया जा सकता है, साम्बब बापी?” उन्होंने कहा कि यह मजेदार होगा.

काका ने चेहरे पर मुस्कान लेकर मेरे दूध की तरफ देखा. फिर बापी ने मुझे बिस्तर के सामने खड़ा कर दिया और मेरा चेहरा बिस्तर की तरफ और मेरे पैर ज़मीन पर कर दिए और फिर नीचे से नाइटी उठा दी। तब से मैं बिना पैंटी के थी इसलिए जब मैंने अपनी नाइटी उठाई तो मेरी गांड और चूत पूरी तरह से खुल गईं, पापा और चाचा दोनों अपने लंड में हाथ डाल कर रगड़ने लगे, तभी चाचा बोले- दादा, आपकी बेटी में तो आग भरी हुई है. पूरी नाइटी खोलो, मुझे पूरा बदन देखना है. पापा ने मुझे घुमाया और मेरी नाइटी और इनर उतार दी. XXX Chudai Kahani

फिर काका मेरे दूध पर टूट पड़े, एक को मुँह में लिया और एक को चूसा, पापा बोले ने जातो पेरिस मिटिते ने। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था तो मैं चाचा के सिर पर हाथ फेरने लगी. पापा अपने घुटनों पर बैठ गये और मेरी टाँगों को हल्के से फैलाया, फिर मेरी चूत में दो उंगलियाँ डाल दीं और मैं गर्म होने लगी।

मेरी चूत से हल्का सफ़ेद पानी निकलता रहा, बापी उस चूत का रस चाटने लगा फिर बापी ने मुझे लेटा दिया। काका मेरी छाती पर चढ़ गये और लंड चूसने को बोले और मैं चूसने लगी. और बापी मेरी चूत चाटता रहा और मेरी गांड के छेद में अपनी उंगलियाँ डालता रहा. मैं अंकल का लंड चूस रही थी और लंड वीर्य का रस पी रही थी और अच्छा लग रहा था. काका बापी ने कहा मैं अब इसकी चूत मारूंगा.

बापी बोला नहीं मैंने उसकी चूत तैयार कर ली है, अंकल बोले उसने मेरा लंड भी तैयार कर लिया है. काका उठे और लंड रगड़ कर अंदर डाल दिया, एक धक्का मारा तो मेरी चीख निकल गई उफ़ आह्ह, तभी बापी ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और बोला, माँ, अपने पापा का लंड तैयार कर ले, और अपने चाचा को शांति से चूत मारने दे। फिर बपी ने इसे मेरे मुंह में डाल दिया और कहा कि मैं आपकी गांड को हरा दूंगा। मैंने लंड चूसने से मना कर दिया. लेकिन कौन किसकी सुनता है, उसने लंड मुँह से निकाला और फिर कहा कि ज्यादा नहीं लगेगा, चिंता मत करो, मैं धीरे-धीरे करूंगा.

फिर काका पहले लेट गये और फिर मुझे अंकल के लंड पर बिठा कर चोदने लगे. पापा आये और मुझे चाचा की तरफ झुका दिया और चाचा मेरे होंठ चूसने लगे और बापी ने मेरी उंगली पर थोड़ा सा नारियल का तेल लगाया और अपना लंड मेरी थूक पर लगाया और छेद में डाल दिया, दर्द हुआ। मैंने अपने पिता से कहा कि मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

बापी ने कहा एक और बाकी है. फिर पीछे से बापी दूध. काका बापी ने दादाजी से कहा कि वे दोनों मिलकर पैसे डालेंगे। फिर उन दोनों की स्पीड बढ़ गयी और मैं चिल्लाने लगी तो अंकल और पापा दोनों ने मुझे पकड़ लिया और चोदते रहे. आख़िरकार मैंने भी पानी पिया और काका के ऊपर लेट गयी। बापी ने पूछा कैसा लगा? मैंने कुछ उत्तर नहीं दिया. XXX Chudai Kahani

अंकल बोले मैं तुम्हारी बेटी को रोज चोदना चाहता हूँ. काका ने लंड मेरी चूत से बाहर नहीं निकाला और बापी और गांड के बीच में डाल दिया. इसी तरह चाचा और बापी बातें कर रहे थे. चूंकि मुझमें रोने की क्षमता नहीं थी तो उन्होंने मुझे लिटा दिया और मेरी चूत और गांड को अच्छे से पोंछ दिया. फिर उन्होंने अपने आप को साफ किया और वो दोनों मेरे दोनों तरफ आकर लेट गये. बापी चाचा से कहता है कि अगर तुम्हें रात में करना है तो रात में मत करो क्योंकि आज उनका शरीर इसे खींचने में सक्षम नहीं होगा। कल सुबह होगी. फिर मैं नंगा ही सो गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *