पड़ोसी भावी को जी भर के चोदने की हिंदी सेक्स कहानी

घटना 2015 की है जब मैं 21 साल का था. मेरा नाम शुबो है, बहू का नाम सप्तमी है, बहू 22 साल की है। बौदी की शादी को केवल 3 साल ही हुए हैं, उनकी एक 2 साल की बेटी भी है।

मैं बौडी के साथ खूब यॉर्कियां खेलता था, ऐसा करते समय मैं हमारे बीच बातचीत करने में शर्माता नहीं था।’ बाउडी को एंड्रॉइड फोन के बारे में बहुत कम जानकारी थी, अगर कुछ होता तो वह मेरे पास आती और मैं उसे ठीक कर देता। दादा बाहर किसी कंपनी में काम करते थे इसलिए बौदी अपनी बेटी के साथ अकेले रहते थे. अगर घर में बिजली की कोई समस्या होती तो वह उसे ठीक करने के लिए मुझे बुला लेते। बौदी मुझे एक बहुत अच्छे लड़के के रूप में जानता था, लेकिन मेरी बहू उसके शरीर को देखकर बहुत लालची थी और उसके करीब जाना चाहती थी। अगर ऐसा ही चलता रहा तो मैं डर के मारे बाउडी को नहीं बता सका क्योंकि अगर बाउडी बुरा सोचेगा और यही सोच कर किसी को बता देगा। ऐसा करते-करते 1 साल बीत गया.

अचानक बाउडी ने मुझे बताया कि मेरे फोन के वीडियो में आवाज क्यों नहीं आ रही है, मैंने देखा और उसे ठीक कर दिया, मैंने देखा कि बाउडी का फोन एक स्थानीय फोन है, मैंने बाउडी से कहा कि इस वीडियो की गुणवत्ता अच्छी नहीं है, मेरे पास इससे बेहतर वीडियो है। , अगर तुम्हें पसंद है तो ले लो, बाउडी उसने कहा नहीं, वह शर्मिंदा था। मेरा घर आना हुआ। कुछ देर बाद बौदी का फोन आया-

मैं- हेलो

बौदी- क्या कर रहे हो?

मैं इसी फाइल पर बैठ कर बातें कर रहा था. तुम्हें किसी चीज की जरूरत हो तो बताओ

बौडी – क्या आपके पास सचमुच वे सभी वीडियो हैं?

मैं हां। बहुत सारे खूबसूरत फुल एचडी गॉव हेयर समझे जा सकते हैं।

बौदी – यह मुझे दे दो

मैं- अभी सड़क पर आकर मुझे कॉल करो

बौदी- अच्छा

मैंने पत्नी के फोन को 4 फुल एचडी दे दिया, मैंने पत्नी को फोन दे दिया। और मैंने कहा कि देखो और बताओ तुम्हें कैसी लगी, अगर पसंद नहीं आएगी तो मैं तुम्हें दूसरी दे दूँगा।

बाउडी – ठीक है कहा और मुस्कुराते हुए चला गया

मैं- मैं सोचने लगा कि बौडी को बिस्तर पर ले जाने का यही मौका है.

बौदी – रात 11 बजे बौदी ने फोन किया

मैं- कैसा लगा?

बौडी- अच्छा

मैं- कौन सा सबसे अच्छा था?

बौडी – जो कपड़े फाड़ दे।

मैं- मैं भी, जाओ बौडी, मुझे अच्छा लगता है. और वो लड़की भी बहुत सेक्सी है

बौडी- तो?

मैं- हां अच्छा, तुम्हें कौन सा पोज पसंद है?

बौदी- तुम शरमाते हो और कहते हो मत कहो

मैं- बौदी, तुम किसी और को नहीं बता रही हो

बौडी- शरमाते हुए कह रही है कि तुम मेरे बारे में बुरा तो नहीं सोचोगे?

मैं बुरा क्यों सोचता हूँ? क्या आपको विधवाओं से जानना है कि लड़कियों को क्या पसंद नहीं?

बाउडी – क्या ऐसा है? शादी के बाद सब पता चल जाएगा

मैं- अब पता चलेगा तो नुकसान क्या है? अगर आपको अपनी जैसी सेक्सी बहू पाने के लिए शादी तक इंतजार करना पड़े, तो बेहतर होगा कि आप ऐसा न करें। मैं तुम्हें कल बौडी नहीं कहूँगा।

बाउडी- नाराज़ क्यों हो?

मैं गंभीर हूं, क्रोधित नहीं हूं.

बौदी- मैं तुम्हें बता रहा हूं. बिस्तर के नीचे गर्दन के चारों ओर पैर रखकर खड़ी लड़कियों के साथ सेक्स करना सबसे अच्छा है।

मैं- मैंने लय में कहा मुझे तुम और मैं पसंद हैं

बाउडी – क्या ऐसा है?

मैं- हां जाओ बौडी.

बौदी- कितनी लड़कियाँ लीं तुमने?

मैं- एक भी नहीं बहू.

बाउडी – सच में?

मैं- हां जाओ. लेकिन मैं किसी ऐसे व्यक्ति के करीब जाने की कोशिश कर रहा हूं जो मुझे बहुत पसंद है।

बाउडी – कौन जाए?

बाद में बताऊंगा।

बौदी- कुछ समझ आया और बोला ठीक है.

मैंने उस दिन फोन वैसे ही छोड़ दिया था. अगले दिन होली है. दोपहर को मैं और मेरा एक दोस्त पेंट लेकर गये। मैं इधर-उधर भटकता हुआ अकेला ही अपनी सास के घर में घुस गया।

मैं- बौदी खाना बनाकर खाने आ गया.

बौदी- हाँ, खा लो

मैं- मैं तो अभी रंग खाऊंगा.

बौदी- थोड़ी देर बाद आना, मैं तैयार नहीं हूं.

मैं- बिना कुछ सुने बौडी के कमरे में घुस गया और बौडी के चेहरे पर रंग लगाने लगा. पेंटिंग करते समय मैंने बाउडी को छू लिया और मेरा हॉल खड़ा हो गया और बाउडी को दिखाई नहीं दिया.

बौडी – क्या यह रंगीन है? अब छोड़ दें

मैं- अभी और रंग देने को तैयार नहीं हूँ

बौदी- लेकिन कौन मान रहा है.

मैंने- तुरंत बौडी के 32 साइज़ को रंगना शुरू कर दिया, और पेट को अच्छे से रंग दिया।

बौदी- कहा अब जाओ, तुम्हें किसी ने देखा तो तुम्हारे बारे में बुरा सोचेंगे.

मैने आ। रंग भरने का खेल ख़त्म करने के बाद, मैंने खाना खाया और थोड़ी देर की झपकी ले ली। शाम को उठ कर देखती हूं तो सास ने 5 बार फोन किया है.

मैं फ्रेश होकर खाली जगह पर गया और बौडी को फोन किया.

बौदी- क्या बात है, फोन क्यों नहीं उठाते?

मैं- मैं तो सो रहा था सासू माँ.

बौडी – बच्चों की नींद।

मैं- सॉरी बाउडी

बौदी- आज रंग देने के अवसर पर तुमने यह सब क्यों किया? उन्होंने थोड़ा व्यंग्य करते हुए कहा.

मैं- बौडी तुम्हें छूकर खुद पर काबू नहीं रख पाया. जब आपको इतना सेक्सी, हॉट फिगर मिलता है तो आप खुद पर काबू नहीं रख पाते।

बौदी – मैं सोच भी नहीं सकता था कि तुम इतने शैतान हो।

मैं- तुम्हारे साथ तो बुरा नहीं करूँगा, फिर किसके साथ करूँगा? अगर किसी और के साथ ऐसा किया तो मैं तुम्हें पीट दूंगी

बाउडी- मैं समझता हूं.

मैं- हाँ जानू

बौडी – रुका।

मैं- कैसा लगा?

बाउडी- मुझे नहीं पता.

मैंने मन में सोचा कि बस हो गया, आज बौदी को बिस्तर पर ले जाऊंगा.

बौडी- खाओ

मैं बाद में खा जाउंगा

बौडी – बाल कब है?

रात को खाऊंगा, रहने दो

बौदी- ठीक है. रात के 11 बजे थे तो मैंने बाउडी को फोन किया

बाउडी- बताओ

मैं- क्या कर रहे हो?

बौदी- मैं सो रहा हूं.

मैं- मोटन मेरा कहां है?

बौदी- तुम्हें खाना नहीं पड़ेगा.

मैं- क्यों प्रिये?

बाउडी – मैंने आपको कितने बीसी कॉल किया?

मैं- सॉरी बाउडी

बौडी- बाल बकना।

मैं- मोटन है?

बौदी- हाँ

मैं- खाना खाने आओगे?

बौडी – नहीं, इस रात यह धीमा नहीं होगा।

मैं- मोटन नहीं देगा?

बौदी- अब मैं क्या करूंगा?

मैं- मैं तुम्हारे घर आ रहा हूं और तुम अपना खाना खाओगी

बौदी- अब असल में तुम कुछ और करना चाहोगी.

मैं- नहीं, मैं कुछ नहीं करूंगा, अगर ज्यादा हुआ तो थोड़ा सहला दूंगा

बाउडी – मुझे प्यार की जरूरत नहीं है

मैं- तो मैं नहीं जाऊंगा. तुम मोटन खाओ

बौदी – क्या तुम्हें समझ में नहीं आता कि अगर कोई देख लेगा तो ख़तरनाक हो जायेगा।

मैं- कोई नहीं देखेगा. मैं यह देखने के लिए चारों ओर देखता हूं कि कोई वहां है या नहीं

बाउडी – मुझे डर लग रहा है

मैं- मैं तुम्हें खतरे में नहीं डालूंगा.

बौदी- चलो, मैं गेट खोल रहा हूं, ध्यान से आना.

मैं- ठीक है जान. मैंने सभी दिशाओं में देखा और स्ट्रीट लाइट बंद कर दी और बौडी के घर में प्रवेश किया। मैंने बाउडी को गले लगाया और उसे चूमा। मैंने बटन दबाया.

बौडी – ने मेरी छाती थपथपाई और कहा कि मैंने तुम्हारे लिए इतना जोखिम उठाया, मैं बहुत डरा हुआ हूं।

मैं- डरो मत जान, मुझे किसी ने नहीं देखा. मैंने उसे कसकर गले लगा लिया.

बौडी- पहले खाओ.

मैं- उसे ले आओ.

बौदी- मैं रात को रोटी बनाकर ला रही हूं.

मैं- नहीं बाउडी प्लीज मैं नहीं खा सकता, बस मोतोन आ जाओ तब होगा.

बाउडी – ठीक है, बाउडी ने मुझे अपने हाथ से खाना खिलाया।

मैंने यह कहते हुए गले लगा लिया कि यह बहुत सुंदर है प्रिये।

बाउडी ने हाथ धोए और मुझसे कहा कि अब जाओ।

मैं- प्रिये, इस रात मैं बहुत जोखिम लेकर आया हूं, क्या वे मुझे भगा देंगे?

बौदी- क्या करोगे?

मैं आपको प्यार करूँगा

बौदी- नहीं, वो सब नहीं हो सकता, दिक्कत है.

मैं कुछ भी बुरा नहीं करूंगा. मैं थोड़ी देर तुम्हारे साथ सोऊंगा और फिर घर चला जाऊंगा.

बौडी- अगर बेटी उठ गयी तो?

मैं- अगले कमरे में चलो.

बौडी – आओ बी.सी

मैंने बाउडी का हाथ पकड़ा और उसके पहने हुए कपड़े उतार दिए, केवल ब्रा और पैंटी रह गई। मैं भी सिर्फ अंडरवियर पहनकर बिस्तर पर आ गया.

बौडी- जब तुम मेरे शरीर को देखते हो तो तुम इतने पागल क्यों हो जाते हो?

मैं- तुम माल हो, तुम्हारा जिस्म बहुत लोग चाहते हैं.

बौडी – तो?

मैं- हाँ प्रिये, लेकिन ये शरीर मैं किसी को नहीं दूँगा?

बौदी – आज से यह शरीर तुम्हारा और तुम्हारे दादा का है। मैं- हाँ प्रिये. लव यू सोना

बाउडी- लव यू 2 सोना

मैं- मैंने जवाब में शरीर को चूमना शुरू कर दिया, कान की लौ को काटा, पेट को काटा, होंठों को चूमा। सास झंझट कर रही है. ऐसा करते करते मैंने अपनी ब्रा उतार दी.

बाउडी ने कान के पास आकर कहा कि आप इसे खोल सकते हैं।

मैं और अधिक कर सकता हूं.

बौडी- क्या ऐसा है?

मैं अपना हाथ पैंटी के पास रख कर पैंटी खाली कर रही हूं और योनि को छू रही हूं।

बौदी- क्या कर रहे हो, मैं पागल हो रहा हूं

मैं- आज मैं तुम्हें पागल करने आया हूँ.

बौडी- मैं मर जाऊँगा जान. कितने दिन बाद कोई दुलार कर रहा है, तुम्हारे दादाजी 3 महीने से घर पर नहीं हैं.

मैं आज से हूं.

बौदी- मैं तुम्हें प्यार करूंगा, बहुत प्यार करूंगा. ये कह कर मेरी बहू ने मुझे पकड़ लिया. क्या आप कह रहे हैं कि आप इतने बड़े हैं?

मैं- इतना बड़ा क्यों है?

बौदी- तुमसे छोटी होगी.

मैं- आज देखूंगा इसकी ताकत.

बौदी- चलो देखते हैं इसकी ताकत.

मैं- मैंने बौडी की पैंटी खोल कर बिस्तर के नीचे फेंक दी.

बौडी- अपनी पैंटी खोलो

मैं- मैं नहीं खोल सकता.

बाउडी – इसे खोला और बिस्तर के नीचे फेंक दिया।

मैं- जान, थोड़ा मेरे मुँह का टेस्ट तो ले लो.

बौडी- तुम मुझे मुँह में लो और मैं भी तुम्हें उसी वक्त मुँह में लेती हूँ.

मैं- जान, तुम एक पोर्न स्टार हो.

बौडी – मैं इसे इतनी जल्दी नहीं कर सकता

मैंने अपना लंड मुँह में डाल लिया और बौडी की चूत चाटने लगा. बौडी ओक ओक को घुमा रहा है और कर रहा है।

ऐसा 5 मिनट तक चलता रहा

बौदी – मैं अब और नहीं सह सकता प्रिये। कृपया मुझे ठंडा करें

मैं- बौडी मेरे पास कंडोम नहीं है.

बौदी- कोई ज़रूरत नहीं. सामान बाहर ही फेंक दो.

मैं- ओक गोल्ड

बौडी- जल्दी से आवेदन करें

मैं- हाँ मैगी, मैं तेरी चूत फाड़ दूँगा।

बौदी- बीसी मुझे मार डालो, मैंने काफी समय से सेक्स नहीं किया है।

जैसे ही मैंने योनि में प्रवेश किया बौडी चिल्ला उठी।

बाउडी – उसे कसकर गले लगाना और उसके कान की लौ को काटना और कहना कि इसे जोर से करो मैं मरना चाहता हूं।

मैं- कैसा लग रहा है जान?

बौडी- बहुत अच्छा

मैं- 5 मिनट रुको सासू मां, मैं बिस्तर के नीचे चला जाऊंगा.

बाउडी – क्यों?

मैं आपके चरणों को अपनी गर्दन पर रखकर आपको प्रणाम करूंगा।

बौडी – बेवकूफी भरी बकवास।

मैं- बिस्तर के नीचे उतर गया और उसका पैर खींचा और फिर से शुरू हो गया।

बौडी- जानू, पूरी ताकत से मारो मुझे

मैं- लेकिन रे मैगी. ये कह कर मैं लड़खड़ाने लगा

बौडी कहता है, मैं 5 मिनट नहीं ले सकता, प्रिये, मुझे तकलीफ हो रही है।

मैं बिना कुछ सुने लड़खड़ा रहा हूं. 10 मिनट बाद मैं बाहर आया.

बौदी- क्या हुआ?

मुझे वैसलीन की आवश्यकता होगी.

बाउडी – देखो, कोई टेबल है या नहीं।

मुझे यह समझ नहीं आया. मैंने उसकी चूत में ढेर सारा थूक लगाया और फिर से पेलना शुरू कर दिया.

बौदी- मुझे तो यह सुख कभी नहीं मिला

मैं इसे आज से ही ले लूंगा.

बौदी- मैं जिंदगी भर तुम्हारा थाप खाना चाहता हूं.

मैं- मैं भी तुम्हें अपनी जिंदगी से प्रभावित करना चाहता हूं.

बौडी- मैं करूंगा. यह कह कर माल छोड़ दिया गया

मैं- मुझे देर हो गई है.

बौदी-चले जाओ।

मैं ये बापी हूं

बौडी – डुड टेपो अम्र

मैं- ओरे खांकी

बौदी – तुम खानकी के भत्ते हो

मैं- ये बेबी, कान के पास गया और बोला 25 मिनट बाद बौडी मेरी हो जाएगी.

बौडी- इसे बाहर फेंक दो। नहीं तो मैं गर्भवती हो जाऊंगी.

मैं- ठीक है, मैं पिता बनूंगा.

बौडी – बकवास बाहर निकालो।

मैं- ज़बरदस्ती अन्दर कर दिया

अब बौडी-बाल से क्या होगा?

मैं कल अनवांटेड लाऊंगा.

बौदी- मैं समझ गया, अगर तुम उसे न लाओगे।

कुछ देर ये कहते हुए मैं गले लगकर लेट गया.

बौदी- अब उठो. मैं बाथरूम से ताज़ा हूँ.

मैं- ठीक है मुझे भी जाने दो. ये कह कर मैंने बौदी को गोद में उठा लिया और बाथरूम में ले गया. हम दोनों ने सैन किया.

बौदी- घर कब जाओगे?

मैं जाना नहीं चाहता.

बौदी- रुकिए और करीब 3-3.30 बजे निकल जाइए।

मैं- ठीक है जान, ये कह कर मैं नंगा ही बौडी के साथ लेट गया.

1 घंटे बाद उठा.

जब बौदी सो रही थी तो मैंने धीरे-धीरे बौदी के शरीर को चूमना शुरू कर दिया। मैंने नाभि को चूमा और हल्के से काटा, बौडी जाग गयी.

बाउडी- कितने बजे बजा?

मैं- 2.30

बौदी-कब जाओगे?

मै बाद मे। मैं एक बार फिर तुम्हारे बारे में सोच रहा हूं.

बौडी- इतना उत्साह.

मैं- हाँ जानू

बौदी – तारा तारि करो।

मैं- थोड़ा चूसो लेकिन धक्कों से तुम्हें मजा आएगा.

बौडी – दे बोका चोदा

मैं- मैं सुबह सदमे में हूं.

बौडी – ओक ओक ओक

मैं अपनी चूत में उंगली कर रही हूं. बौदी – धोका खांकी के पुत्र ने अपनी उंगलियां बाहर निकाल लीं।

मैं- मैंने तुम्हें कितना चोदा ते सच मिले ना?

बौडी- मैं हमेशा सुबह तुम्हारा अपनी चूत में रखना चाहती हूँ.

मैं- तभी तो सोना को बुलाया और अन्दर आ गया.

बौडी- वाह जानू, अच्छा चोदो, चोदो और मुझे ख़त्म कर दो।

मैं- आज से तुम्हें ठंडा रखना मेरी जिम्मेदारी है.

बौदी- अगर ऐसी चुदाई मिले तो मैं तुम्हारी खानकी बनना चाहती हूँ.

मैं- आज से तुम मेरी खानकी नहीं बल्कि मेरी GF हो.

बौदी- इस बार माल मत फेंकना.

मैं- कहां फेंकूं?

बौडी- मेरे मुँह में डाल दे. मेरी चूत ने तुम्हारे माल को परख लिया है.

अभी थोड़ा खाऊंगा और देखूंगा कि टेस्ट कैसा है.

मैं- 20 मिनट चोदने के बाद मैंने माल बीवी के मुँह में डाल दिया. बौडी ने सारा खाना खा लिया और मेरे हॉल को चाट कर साफ़ कर दिया।

मैं- तुम्हें टेस्ट कैसे मिला रैंडी?

बाउडी – बढ़िया टेस्ट बेवकूफी भरी चुदाई।

मैं- पैंट पहन लो. टी-शर्ट पहनने के बाद मैंने ब्रा को अपने हाथ पर रखा और महिला को पैंटी पहनने के लिए चूमते हुए हल्के से बटन दबाया और बाहर जाकर अपने घर में प्रवेश कर गया।

इस तरह मैंने अपनी बीवी को साढ़े तीन साल तक चोदा.

दोस्तो आपको पड़ोसी भावी को जी भर के चोदने की हिंदी सेक्स कहानी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताइए….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *